सफल अनुसंधान के लिए रिसर्च डिजाइन अति जरूरी - मोहाना सुन्दरी
रिसर्च मेथोडोलॉजी (अनुसंधान क्रियाविधि) पर दो दिवसीय कार्यशाला सम्पन्न
95 नर्सिंग प्रतिभागियों को हुआ प्रशस्ति पत्र का वितरण

जोधपुर 14 दिसम्बर। मारवाड़ मुस्लिम एज्यूकेशनल एण्ड वेलफेयर सोसायटी जोधपुर के अधीन संचालित माई खदीजा इंस्टीट्यूट ऑफ नर्सिंग साइन्सेज में रिसर्च मेथोडोलॉजी (अनुसंधान क्रियाविधि) विषय पर चल रही दो दिवसीय वर्कशॉप (कार्यशाला) का प्रशस्ति पत्र वितरण समारोह के साथ समापन हुआ।


नर्सिंग प्रिन्सीपल जितेन्द्र खत्री ने बताया कि कार्यशाला के अन्तिम दिन मुख्य वक्ता के तौर पर एम्स जोधपुर के नर्सिंग ट्यूटर सत्यवीर ने रिसर्च मेथोडोलोजी के अन्तर्गतं बताया कि वर्णात्मक आंकड़ो की गणना किस तरीको से की जाती है तथा उसको किस तरीके से उपयोग में लिया जाता हैं। साथ ही रिसर्च की वैद्यता एवं विश्वसनियता के बारे में विस्तार से बताया।


एम्स जोधपुर की नर्सिंग ट्यूटर एस. के. मोहाना सुन्दरी ने अन्य मुख्य वक्ता के तौर पर बताया कि रिसर्च मेथोडोलोजी में रिसर्च डिजाइन (अनुसंधान रेखाचित्र) किस प्रकार से तैयार किया जाता है तथा इन्फ्रेन्सियल स्टेटीटिक्स (अनुमानित आंकड़ा)े के बारें में विस्तार से जानकारी प्रदान की तथा प्रोबलम स्टेटमेन्ट बनाने के तरीको के बारें में भी एक्टीविटी के जरिये बताया।


इस वर्कषॉप की सफलता में कॉलेज उपप्राचार्य सुशील चौधरी, नर्सिंग व्याख्याता अनिता नायर, राजूराम, कौशल्या बलाई, सुखवीर कौर, रिजवान अली, सुनीता चौधरी, भोमाराम चौधरी, आत्माराम, इमरान, सादिया, जैब्बूनिशां, जोयशी एस जोय, अनु सबरी, विकास, कमल किशोर, राघव, सिन्ड्रेला, हितेश आदि का विशेष सहयोग रहा। कार्यशाला में एमएससी तथा पोस्ट बेसिक बीएससी के समस्त छात्र-छात्राओं ने भाग लिया।


अध्यक्षता प्राचार्य जितेन्द्र खत्री, संचालन जोयशी एस जोय ने किया। व्याख्याता अनु सबरी आयोजक सचिव रही।
धन्यवाद प्रस्ताव सह प्राचार्य सुखवीर कौर ने ज्ञापित किया। अन्त में सभी 95 नर्सिंग प्रतिभागियों सहित समस्त स्टाफ को प्रशस्ति पत्र प्रदान किये गये।